Thumbnail
Access Restriction
Open

Editor कट्टीमनी, टी. वी.
Source SCERT Andhra Pradesh
Content type Text
Publisher Government of Andhra Pradesh
File Format PDF
Language Hindi
Difficulty Level Medium
Alternative Title हार के आगे जीत है
बढ़ते कदम
Subject Domain (in DDC) Literature & rhetoric ♦ Literatures of other languages ♦ East Indo-European & Celtic literatures
Subject Keyword अनमोल ♦ रत्न ♦ हार ♦ जीत ♦ कदम
Table of Contents इकाई 4)
  अध्याय 10) अनमोल रत्न 64
  अध्याय 11) हार के आगे जीत है 69
  अध्याय 12) बढ़ते कदम .... 75
  आओ पत्रिका निकालें 83
  शब्दकोष ............................ 85
Description यहाँ कक्षा आठवीं की हिंदी की द्वितीय भाषा की पाठ्यपुस्तक "बाल-बगीचा - 3" में से लिए गए तीन अध्यायों का वर्णन किया गया है I जिसके पहले अध्यायरूपी कविता ' अनमोल रत्न' में कवी ने तुस्लिदस तथा रहीम के दोहों का प्रयोग करते हुए मानवी स्वभाव के अनमोल रत्नों से अवगत कराया है I दूसरे अध्याय 'हार के आगे जीत है' में लेखक ने जीवन में हार से निराश न होने की सलाह देते हुए उसका जीवन में महत्त्व समझाया है I वहीं तीसरा अध्याय 'बढ़ते कदम' में एक लड़की की डायरी में लिखे गए स्वानुभव के जरिए शिक्षा का जीवन में महत्त्व और बच्चों के लिए सरकार की विविध योजनाओं से अवगत कराया गया है I
Educational Role Student ♦ Teacher
Educational Use Classroom ♦ Reading
Interactivity Type Expositive
Education Level V to VIII
Learning Resource Type Book
Educational Framework Andhra Pradesh Board of Secondary Education (APBSE)
Time Required P2D
Publisher Place Hyderabad
Size (in Bytes) 619.89 kB
Page Count 25


Source: SCERT Andhra Pradesh